अब फसल सहायता योजना में निबंधन 15 नवम्बर तक होगा

0
22

सरकार द्वारा खरीफ 2018 मौसम में अगहनी धान एवं भदई-मकई फसल के लिए रैयत एवं गैर-रैयत किसानों के लिए ऑन-लाइन निबंधन की अवधि को 15 नवम्बर तक विस्तारित की गयी है। खरीफ 2018 मौसम में राज्य के सभी 38 जिलों के 527 अंचलों (भागलपुर के नवगछिया, बिदुपुर, गोपालपुर, नारायणपुर, इस्माइलपुर, रंगराचौक एवं खरीक अंचलों को छोड़कर) के सभी ग्राम पंचायतों एवं भदई-मकई की फसल राज्य के 38 जिलों के सभी ग्राम पंचायतों में बिहार राज्य फसल सहायता योजना अधिसूचित की गई है। जिसमें अगहनी धान एवं भदई-मकई फसलों के लिए रैयत एवं गैर-रैयत किसानों हेतु ऑन-लाइन निबंधन की अवधि 31 अक्टूबर तक निर्धारित थी। राज्य के किसानों को समुचित सहयोग प्रदान करने के लिए सरकार द्वारा खरीफ 2018 मौसम में अगहनी धान एवं भदई-मकई फसल के लिए रैयत एवं गैर-रैयत किसानों हेतु ऑन-लाइन निबंधन की अवधि को 15 नवम्बर तक विस्तारित किये जाने की सहमति दी गई है। उपरोक्त योजना के तहत अभी तक कुल 9,48,607 किसानों के द्वारा ऑनलाइन निबंधन कराया जा चुका है। जिसमें रैयती किसानों की संख्या 4,36,688 है। गैर-रैयती किसानों की संख्या 5,11,919 है। उपरोक्त में से धान के लिए कुल- 8,90,584 एवं मक्का के लिए कुल 58,053 किसानों के द्वारा ऑनलाइन निबंधन कराया गया है। इस संबंध में सहकारिता विभाग के द्वारा विज्ञापन के सभी उपलब्ध माध्यमों आदि के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार अभियान चलाया जा रहा है। सभी केन्द्रीय सहकारी बैंकों के द्वारा अपनी शाखाओं में किसानों को सहायता हेतु आवश्यक व्यवस्था की गई है। विभागीय पदाधिकारियों के द्वारा किसानों के जागरूकता हेतु शिविर आयोजित कर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। सहकारिता मंत्री राणा रणधीर ने विस्तारित अवधि में राज्य के अधिकाधिक किसानों को इस योजना का लाभ उठाने हेतु ऑनलाइन निबंधन कराने की अपील की गयी है।

यह भी पढ़े  वैकल्पिक फसलों के बीज का वितरण सुनिश्चित करें : प्रेम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here