अबकी बार किसकी सरकार: तीसरे चरण का मतदान शुरू, कई VIP की साख दांव पर

0
67

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में आज 17 राज्यों ( 15 राज्य और 2 केंद्रशासित प्रदेश) के 116 लोकसभा सीटों पर लोग अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. इसलिए लिेए चुनाव आयोग समेत चुनाव वाले सभी राज्यों में स्थानीय प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है.लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे फेज में जहां टीम एनडीए के ऊपर अपना पिछला रिकॉर्ड बरकरार रखने की चुनौती है तो वहीं यूपीए को अपना रिकॉर्ड सुधारने की. पहले दो चरणों के मुकाबले यह चरण बेहद खास है. इस चरण में उत्‍तर से लेकर दक्षिण तक VIP उम्‍मीदवारों की भरमार है. बीजेपी के कैप्‍टन अमित शाह और कांग्रेस के कैप्‍टन राहुल गांधी समेत सियासत के कई दिग्‍गज खिलाड़ी मैदान में अपना दमखम दिखाएंगे.

गुजरात की गांधीनगर लोकसभा सीट गुजरात की सबसे अहम और वीआईपी सीटों में से एक है. बीजेपी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी साल 1998 से इस सीट पर जीतते आए. लेकिन इस बार पार्टी ने यहां से राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को उम्मीदवार बनाया है. वहीं कांग्रेस ने अमित शाह के खिलाफ गांधीनगर सीट से डॉ. सीजे चावड़ा को मैदान उतारा है.

केरल के वायनाड से सबसे ज्यादा 22 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी वायनाड से चुनाव मैदान में हैं. सभी सीटों पर 303 उम्मीदवारों ने अपने नामांकन दाखिल किए थे लेकिन जांच के दौरान 60 उम्मीदवारों के नामांकन खारिज कर दिए गए. इस सीट पर कम्युनिस्ट पार्टी ने पीपी सुनीर को मैदान में उतारा है. राहुल गांधी के साथ इनका सीधा मुकाबला है. सीपीआई (एमएल) रेड स्टार ने के उषा और सेकुलर डेमोक्रेटिक कांग्रेस ने पीपी जॉन को टिकट दिया है. बहुजन समाज पार्टी ने मोहम्मद पीके को अपना उम्मीदवार बनाया है.

संबित पात्रा का इस सीट पर मुकाबला बीजेडी के पिनाकी मिश्रा से है. पिनाकी मिश्रा मौजूदा सांसद हैं और पिछली बार लोकसभा चुनाव में उन्हें सवा पांच लाख से ज्यादा वोट मिले थे. कांग्रेस ने इस सीट से सत्य प्रकाश नायक को टिकट दिया है.

केरल का तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से दिग्गज कांग्रेसी नेता और पूर्व मंत्री शशि थरूर सांसद हैं. यहां से नौ बार कांग्रेस कैंडिडेट जीतकर सांसद बने हैं, जबकि चार बार भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के कैंडिडेट जीते हैं. इस बार बीजेपी ने मिजोरम के पूर्व गवर्नर कुम्मनम राजशेखर को उतार दिया है जिससे शशि थरूर के लिए मुकाबला और कड़ा दिख रहा है.

यह भी पढ़े  भाजपा बिहार विधान सभा चुनाव एनडीए के प्लेटफार्म पर बड़े भाई की भूमिका के साथ लड़ने जा रही !

माजवादी पार्टी का गढ़ मैनपुरी लोकसभा सीट पर मुलायम की प्रतिष्ठा दांव पर है तो भारतीय जनता पार्टी इस पूर्व मुख्यमंत्री को आसानी से चुनाव नहीं जीतने देना चाहेगी. 2019 लोकसभा चुनाव के लिए मैनपुरी से 12 उम्मीदवार मैदान में हैं. मुख्य मुकाबला सपा से मुलायम सिंह यादव और बीजेपी के प्रेम सिंह शाक्य के बीच है.

पीलीभीतः इस बार कुल 13 उम्मीदवार मैदान में हैं, लेकिन मुख्य मुकाबला बीजेपी के वरुण गांधी, समाजवादी पार्टी के हेमराज वर्मा और जनता दल यूनाइटेड के डॉक्टर भरत के बीच है. यहां से 6 निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में हैं. बीजेपी ने इस बार लोकसभा चुनाव में सीटों की अदला-बदली करते हुए मेनका गांधी को पीलीभीत की जगह सुल्तानपुर से जबकि वरुण गांधी को सुल्तानपुर की जगह पीलीभीत से मैदान में उतारा है. पीलीभीत लोकसभा क्षेत्र में हिंदू वोटरों के साथ-साथ मुस्लिम वोटरों का भी खास प्रभाव है. पीलीभीत में 30 फीसदी आबादी मुस्लिमों की है. 2017 के विधानसभा चुनाव में सभी पांच सीटों पर बीजेपी ने ही बाजी मारी थी.

मैनपुरी : जातीय समीकरण को देखें तो इस सीट पर यादव वोटरों का वर्चस्व है, यहां करीब 35 फीसदी मतदाता यादव समुदाय से हैं. जबकि करीब 2.5 लाख वोटर शाक्य हैं. यही कारण रहा है कि यहां समाजवादी पार्टी का एक छत्र राज चलता है. समाजवादी पार्टी का गढ़ मैनपुरी लोकसभा सीट पर मुलायम की प्रतिष्ठा दांव पर है तो भारतीय जनता पार्टी इस पूर्व मुख्यमंत्री को आसानी से चुनाव नहीं जीतने देना चाहेगी. 2019 लोकसभा चुनाव के लिए मैनपुरी से 12 उम्मीदवार मैदान में हैं. मुख्य मुकाबला सपा से मुलायम सिंह यादव और बीजेपी के प्रेम सिंह शाक्य के बीच है.

फिरोजाबादः फिरोजाबाद लोकसभा सीट पर चुनावी लड़ाई चाचा-भतीजे के बीच होने वाली है. समाजवादी पार्टी के सांसद अक्षय यादव एक बार फिर फिरोजाबाद से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं जिनको चुनौती चाचा शिवपाल सिंह यादव से मिल रही है. वहीं बीजेपी भी इस सीट पर जीत के लिए जोर लगा रही है.

यह भी पढ़े  समाज के चहुंमुखी विकास के लिए जारी रहेगा प्रयास : डॉ. प्रेम

इस संसदीय क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख जीए मीर, नेकां के हसनैन मसूदी और भाजपा के सोफी मोहम्मद यु़सूफ समेत 20 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं

इस बार इस सीट पर बीजेपी-बीजेडी के बीच कांटे की टक्कर है. पिछले चुनाव में कांग्रेस इस सीट पर दूसरे नंबर पर रही थी. बीजेडी इस सीट पर एक बार फिर से भर्तृहरि महताब को लेकर मैदान-ए-जंग में आई है, भर्तृहरि महताब को पिछले लोकसभा में सर्वोत्कृष्ट सांसद का पुरस्कार मिल चुका है. कांग्रेस ने इस बार इस सीट से पंचानन कानूंगाव को टिकट दिया है. बीजेपी ने प्रकाश मिश्रा को अपना प्रत्याशी बनाया है. इस सीट से कलिंग सेना और कृपा पार्टी के प्रत्याशी भी चुनाव लड़ रहे हैं.

केरल की इस सीट से 13 उम्मीदवार मैदान में हैं. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने मौजूदा केंद्रीय मंत्री अल्फोंस कन्नाथनन को टिकट दिया है. बहुजन समाज पार्टी ने पीए नियामाथुल्ला, माकपा ने पी. राजीव, कांग्रेस ने हीबी इडेन, समाजवादी फॉरवर्ड ब्लॉक ने अब्दुल खादेर वाझाक्काला, सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ने वीएम फैजल और राष्ट्रीय समाज पक्ष ने विवेक के विजयन को टिकट दिया है. इसके अलावा चार निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

शरद पवार बारामती से सात बार सांसद रह चुके हें और एक बार अजित पवार यहां से सांसद रहे हैं. शरद पवार की पुत्री और राकांपा की सुप्रिया सुले तीसरी बार चुनाव मैदान में हैं और उनके विरुद्ध भाजपा ने कांचन कुल को उतारा है.

कांग्रेस सांसद मौसम नूर टीएमसी में शामिल हुईं तेा ममता बनर्जी ने उन्हें मालदा उत्तर से टीएमसी से उतार दिया. कांग्रेस ने इस सीट से इशा खान चौधरी को टिकट दिया है. भारतीय जनता पार्टी ने इस सीट से खगेन मुर्मू को कैंडिडेट बनाया है, जबकि सीपीएम ने विश्वनाथ घोष को टिकट दिया है. मुख्य राष्ट्रीय पार्टियों के अलावा इस सीट से बहुजन समाज पार्टी, शिवसेना, बहुजन मुक्ति पार्टी समेत कई निर्दलीय कैंडिडेट भी चुनाव लड़ रहे हैं.

यह भी पढ़े  15 दिन बाद खुला श्रीनगर का लाल चौक, हटाए गए कंटीले तार

येदियुरप्पा के बेटे बी.वाई. राघवेंद्र दोबारा चुनावी मैदान में हैं. बीवाय राघवेंद्र (भारतीय जनता पार्टी), एस मधुबांगरप्पा (जनता दल सेक्युलर)), गुडप्पा (बहुजन समाज पार्टी), वेंकेटेश आर (उत्तमा प्रजाकिय पार्टी), कृष्णा के (पिरामिड पार्टी ऑफ इंडिया) शामिल हैं.

कर्नाटक की गुलबर्गा सीट से डॉ. उमंग जी जाधव (भारतीय जनता पार्टी), मल्लिकार्जुन खड़गे (कांग्रेस), केबी वासु (बहुजन समाज पार्टी), डी के कोनकाटे केरूरू (राष्ट्रीय समाज पक्ष), राजकुमार (भारतीय बहुजन क्रांति दल), महेश लंबानी (उत्तमा प्रजाकिय पार्टी), विजय जाधव (सर्व जनता पार्टी), एसएम शर्मा (सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया-कम्युनिस्ट), शंकर जाधव (भारतीय पीपुल्स पार्टी) हैं. साथ ही निर्दलीय में जी टिम्माराज, डॉ. एमपी दाराकेशवरैया, रमेश भीम सिंह चुनाव मैदान में हैं.

गुवाहाटी लोकसभा सीट पर बीजेपी ने मौजूदा सांसद बिजॉय चक्रबर्ती का ट‍िकट काटकर क्वीन झा को ट‍िकट द‍िया है. क्वीन ओझा का मुकाबला कांग्रेस की ‘ब्यूटी क्वीन’ कही जा रही बोबीता शर्मा से हो रहा है. तृणमूल कांग्रेस से मनोज शर्मा मैदान में हैं.

कांग्रेस की प्रवक्ता और बाहुबली पप्पू यादव की पत्नी रंजीत रंजन सुपौल व जेडीयू से द‍िलेश्वर कमैत एक बार आमने-सामने हैं. इस बार कांग्रेस और जेडीयू के बीच कांटे का मुकाबला है. बहुजन समाज पार्टी, राष्ट्रवादी जनता पार्टी, जय ह‍िंद पार्टी, ब‍िहार लोक निर्माण दल, वंच‍ित समाज पार्टी, जम्मू एंड कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी, लोक सेवा दल, श‍िवसेना, आम जनता पार्टी राष्ट्रीय, जन अध‍िकार पार्टी, ह‍िंद साम्राज्य पार्टी जैसे दलों के साथ 7 न‍िर्दलीय भी चुनाव मैदान में हैं.
मधेपुरा लोकसभा सीट पर इस बार जन अध‍िकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के पप्पू यादव उर्फ राजेश रंजन और जेडीयू के द‍िनेश चंद्र यादव में कांटे का मुकाबला है. कभी जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे शरद यादव इस बार आरजेडी से चुनावी मैदान में हैं. बल‍िराजा पार्टी, असली देशी पार्टी, बहुजन मुक्त‍ि पार्टी, राष्ट्रवादी जनता पार्टी, आम अध‍िकार मोर्चा, और 5 न‍िर्दलीय भी चुनावी मैदान में हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here