अफवाहों पर ध्यान न दें, स्थिति सामान्य हो गई है :डीजी गुप्‍तेश्‍वर पांडे

0
103

बिहार के औरंगाबाद शहर में मंगलवार को तनाव रहा लेकिन वहां सुरक्षा बलों की भारी तैनाती की वजह से कोई अप्रिय घटना नहीं हुई. हालांकि एक वीडियो सामने आया हैं जहां स्थानीय भाजपा सांसद सुशील सिंह क्रिया की प्रतिक्रिया की बात कर रहे हैं.

वहीं औरंगाबाद के डीजी गुप्‍तेश्‍वर पांडे ने कहा कि मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि अफवाहों पर ध्यान न दें. आरोपियों को प्रशासन नहीं बख्‍शेगा. इस मामले में 125 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है और गिरफ्तारियां भी की जाएंगी. उन्‍होंने कहा कि स्थिति सामान्य हो गई है.

मंगलवार सुबह से सुरक्षा बल के जवान औरंगाबाद में वरिष्ठ अधिकारियों के नेतृत्व में मार्च करते रहे. सोमवार को सुरक्षा बलों के सामने ही एक समुदाय के लोगों के दुकान को जैसे आग के हवाले किया गया. उसके बाद राज्य सरकार कोई मौक़ा नहीं ले रही थी. कर्फ्यू नहीं लगाया गया लेकिन सड़कें सन्नाटे में डूबी रहीं.

यह भी पढ़े  आज से जलवायु परिवर्तन पर दो दिवसीय सम्मेलन : मोदी

इस हिंसा के पीछे भाजपा की अंदरूनी राजनीति और ख़ासकर स्थानीय भाजपा सांसद सुशील सिंह की भूमिका संदिग्ध बतायी जा रही हैं. हालांकि सोमवार को जब हिंसा जारी थी तब विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के ये मामला उठाने पर नीतीश कुमार ने ये सफ़ाई दी थी.

इस बार नीतीश कुमार को हिंसा की उम्मीद थी, लेकिन औरंगाबाद के स्थानीय सांसद के सामने लोगों के दुकान को जैसे आग लगाई गई. वैसे में नीतीश को असल खतरा विरोधियों से ज़्यादा भाजपा जैसे सहयोगी से हैं जो वोट के लिए अब धर्म की आड़ में हिंसा से परहेज़ नहीं करते.

शहर में तनाव के बाद मंगलवार को सड़कों पर सन्नाटा रहा। शहर की सभी दुकानें बंद रही। प्रशासन के द्वारा शांति के लिए लगाई गई धारा 144 को लेकर शहर के सभी राष्ट्रीयकृत एवं निजी बैंक एवं एटीएम बंद रहे। डाकघर बंद रहा। बैंक बंद रहने से आमजन परेशान हुए। शहर के लोग घरों से नहीं निकले। जीटी रोड को छोड़ शहर के किसी भी सड़क पर वाहन तक नहीं चला।  न्यायालय से लेकर समाहरणालय तक पूरे दिन सन्नाटा छाया गया। शहर के कुछ सरकारी कार्यालयों में कार्य नहीं हुआ। सुबह केवल दूध और अखबार शहर के लोगों को नसीब हुआ। जब शहर में भीड़ बढ़ने लगी और प्रशासन को यह आशंका हुई कि कुछ घटना हो सकती है उसके बाद प्रशासन अलर्ट हुई और सख्ती दिखाते हुए पहले वाहन से शहर में घूमकर धारा 144 लागू होने की घोषणा की। घोषणा के बावजूद जब भीड़ नहीं हटी तो सुरक्षा बलों के द्वारा भीड़ को भगाया गया। शहर के तमाम गली एवं मोहल्लों में प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा शांति बनाए रखने की अपील करते हुए सड़क पर नहीं निकलने की हिदायत दी। शहर के रामाबांध स्थित बस स्टैंड, ओवरब्रिज बाइपास, दानी बिगहा बस स्टैंड एवं ईदगाह स्थित बस स्टैंड में पूरे दिन सन्नाटा रहा। सड़क पर वाहनों का परिचालन नहीं हो सका। वैसे पूरी तरह नियंत्रण में रही। शहर के नागरिक घर से ही हालात की जानकारी लेते रहे। कहीं से तनाव की सूचना नहीं है।

यह भी पढ़े  मुजफ्फरपुर रेप कांड जांच की मीडिया रिपोर्टिंग पर लगे बैन को SC ने हटाया, दी हिदायतें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here