अपना अस्तित्व बचाने को भ्रष्टाचारी हुए एकजुट : स्वास्य मंत्री

0
34
file photo

सीट शेयरिग पर आज एक और तारीख देने पर स्वास्य मंत्री मंगल पांडेय ने तथाकथित महागठबंधन पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन में सीट शेयरिंग का मामला वीरबल की खिचड़ी की तरह है, जो कभी नहीं पकेगी। आखिर पकेगी भी कैसे, नेताओं की लालसा जो पूरी नहीं हो रही है। महागठबंधन में शामिल दलों के नेता दो दिनों तक चली बैठक से भी संतुष्ट नहीं हैं। सीटों का गणित सही नहीं बैठने पर ऐसे नेताओं के सुर अलग-अलग हैं। कोई किसी के बराबर सीट मांग रहा तो कोई अपनी चुनिंदा सीट पर अड़ा हुआ है। श्री पांडेय ने कहा कि महागठबंधन के नेताओं का एक ही उद्देश्य है कि मोदी हटाओ और एनडीए का उद्देश्य है कि भ्रष्टाचारियों से देश को बचाओ। यह महागठबंधन देश के विकास के लिए नहीं बल्कि भ्रष्टाचारियों के अस्तित्व बचाने के लिए बना है, लेकिन ऐसे सियासी दलों के मंसूबे पूरे नहीं होने वाले हैं। उन्होंने कहा कि चौकीदार की पहरेदारी का ही नतीजा है कि सारे भगोड़े न सिर्फ पकड़ में आ रहे हैं बल्कि जेल की सलाखों में भी डाले जा रहे हैं। कांग्रेस के भ्रष्टाचार का आलम यह है कि गांधी परिवार के नाम नया घोटाला उजागर हुआ है। वह घोटाला है जमीन घोटाला। यह बात भी सत्य है कि राहुल गांधी ने अपने बहनोई राबर्ट बाड्रा के साथ मिलकर इस खेल को अंजाम दिया। श्री पांडेय ने कहा कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद जेल से फरमान जारी कर रहे हैं कि कांग्रेस आठ सीटों पर संतोष करे, लेकिन कांग्रेस को उनकी सलाह रास नहीं आ रही है। 11-12 के चक्कर में राजद और कांग्रेस के नेता दो दिन पहले वाकयुद्ध कर एक-दूसरे को अल्टीमेटम भी दे रहे थे। उन्होंने कहा कि भले ही महागठबंधन के नेता इस मैराथन बैठक को ‘‘ऑल इस वेल’ बता रहे हों, लेकिन ऐसे नेता विकल्प की तलाश में भी लगे हुए हैं। जब सीट शेयरिंग पर महागठबंधन का यह हाल है तो दूल्हा बनने की बारी आएगी तो सेहरा पहनने के लिए मारामारी तय है।

यह भी पढ़े  मातृत्व मृत्यु दर घटाने में चिकित्सकों की भूमिका अति महत्वपूर्ण : मंगल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here