अगले वर्ष पक्की सड़क से जुडेंगे गांव व टोले :मुख्यमंत्री

0
36

‘चंपारण मेरे दिल मे है और किसी भी योजना का शुभारंभ मैं सबसे पहले चंपारण की धरती से ही करता हूं। राज्य के हर एक गांव और टोलों को पक्की सड़क से जोड़ने का लक्ष्य अगले साल तक पूरा कर लिया जायेगा।’ ये बातें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को मैनाटांड़ स्टेडियम में विकास योजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन कार्यक्रम में कही। उन्होंने मंच से रिमोट कंट्रोल के जरिये 305 करोड़ रुपये की लागत वाली योजनाओं का शिलान्यास व शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने चंपारण के लोगों को यहां हुए विकास के बारे में बताया। सीएम ने ‘‘सात निश्चय’ के तहत नल-जल योजना को महत्वपूर्ण बताया और कहा कि इसके तहत लोगों को शुद्ध जल पीने के लिए मिल रहा है। उन्होंने पानी को बहुमूल्य बताते हुए इसकी बर्बादी नहीं करने की अपील लोगों से की। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में अब डीजल से खेती करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि अब किसानों सिंचाई के लिए खेत तक बिजली पहुंचायी जा रही है। साथ ही कहा कि राज्य के हर एक गांव और टोलों को पक्की सड़क से जोड़ने का लक्ष्य अगले साल तक पूरा कर लिया जायेगा। पहले पूरे बिहार में कुल करीब 700 मेगावाट बिजली की खपत होती थी। आज हर घर में हमारी सरकार द्वारा बिजली मुहैया कराने के बाद 5500 मेगावाट बिजली की खपत होने लगी है। उन्होंने बताया कि कृषि के लिए फसल काटने, बंडल करने एवं दौनी करने की तीन मशीनों की खरीद पर किसानों को सब्सिडी दी जा रही है। सामान्य लोगों को 75 प्रतिशत और अनुसूचित जाति व जनजाति के लिए 80 प्रतिशत पर सब्सिडी दी जा रही है। उन्होंने खेती के लिए त्रिवेणी कैनाल और साइफन पुल को भी जल्द से जल्द दुरुस्त करने की बात कही। उन्होंने कहा कि अंतिम छोर तक नहर का पानी पहुंचेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि असमान्य जलवायु परिवर्तन से सबको चिंतित होने की जरूरत है। सबकी सहभागिता से हम पर्यावरण संरक्षा का बड़ा अभियान शुरू करनेवाले हैं। इसको लेकर जागरूक और आप सबकी सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए मिशन जल-जीवन-हरियाली को लेकर हम अपनी अगली यात्रा शुरू करेंगे। इसकी भी शुरुआत चंपारण से ही होगी। उन्होंने किसानों से अपील की कि आप फसल काटने के बाद पुआल को न जलायें। इसे प्रदूषण फैलता है, जिससे लोगों को कई प्रकार की बीमारी का शिकार होना पड़ता है। इधर, मुख्यमंत्री ने खेल प्रांगण में परिवहन विभाग, समाज कल्याण विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, अनुसूचित जाति -जनजाति कल्याण विभाग, स्वास्य विभाग, जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र कृषि विभाग की ओर से लगायी गयी प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। सभा को उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद आदि ने संबोधित किया। कार्यक्रम में जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रेणु देवी रामनगर विधायक भागीरथी देवी लोरिया के विधायक विनय बिहारी राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र दुबे पूर्व विधायक दिलीप बर्मा मौजूद थे।

यह भी पढ़े  बक्सर में चुनावी प्रचार से नितीश उम्र की दुरी के राज क्या है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here