अगर मेरे शब्दों से वह आहत हुई हैं तो मैं अपने बयान के लिए खेद प्रकट करता हूं.:शरद यादव

0
12

बिहार के वरिष्ट नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव ने राजस्थान विधानसभा चुनाव-प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर एक विवादित टिप्पणी की थी. दरअसल, राजस्थान के अलवर में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन शरद यादव ने वसुंधरा राजे को ‘मोटी’ बताया था और कहा था कि उन्हें आराम देने की जरूरत है. इस पर वसुंधरा राजे ने पलटवार किया था. उन्होंने कहा था कि, ‘मैं अपमानित महसूस कर रही, ये सभी महिलाओं का अपमान है. अब शरद यादव को अपनी गलती का एहसास हुआ और उन्होंने इसके लिए खेद प्रकट किया. शनिवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए शरद यादव ने कहा, ‘मैंने उनका (वसुंधरा राजे का) स्टेटमेंट देखा. मेरे उनके साथ काफी पुराने पारिवारिक संबंध हैं. अगर मेरे शब्दों से वह आहत हुई हैं तो मैं अपने बयान के लिए खेद प्रकट करता हूं. मैं उनको इसे लेकर पत्र भी लिखूंगा.

बता दें कि अलवर में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन एक चुनावी सभा के दौरान शरद यादव ने लोगों से कहा था, ‘वसुंधरा को आराम दो, बहुत थक गई हैं. बहुत मोटी हो गई है, पहले पतली थी. हमारे मध्य प्रदेश की बेटी है.’ बता दें कि शरद यादव ने अलवर की मुंडावर सीट पर कांग्रेस गठबंधन के एक प्रत्याशी के समर्थन में रैली को संबोधित कर रहे थे.

यह भी पढ़े  पुलिस अधिकारियों को पीटने के मामले में 175 ट्रेनी और 10 सिपाही बर्खास्त

समाचार एजेंसी एएनआई ने शरद यादव के चुनावी सभा का एक वीडियो भी शेयर किया था, जिसमें वह वसुंधरा राजे पर यह टिप्पणी कर रहे हैं. वह कहते हैं ‘हमारी यह वसुंधरा इसको आराम दो बहुत थक गई है. बहुत मोटी हो गई है. पहले बहुत पतली थी न ये? हमारे मध्य प्रदेश की बेटी है ये. इस वीडियो के वायरल होने के बाद से सोशल मीडिया पर शरद यादव की खूब आलोचना हो रही थी. हालांकि बढ़ते विवाद को देखते हुए शरद यादव ने बाद में समाचार कहा था कि ‘मैंने इसे मजाक में कहा. मेरा उनसे पुराना रिश्ता है. यह किसी तरह से अपमानजनक नहीं है. उन्हें दुख पहुंचाने का मेरा कोई इरादा नहीं था. जब मैं उनसे मिला तब भी मैंने उनसे कहा कि उनका वजन बढ़ रहा है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here