अंतरिक्ष में ISRO की एक और सफल उड़ान

0
39

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र  का नेविगेशन सैटेलाइट (नौवहन उपग्रह) गुरुवार (12 अप्रैल) को सुबह 4 बजकर 4 मिनट पर पीएसएलवी-सी41 के जरिए श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपित हुआ और यह सफलतापूर्वक अपनी कक्षा में स्थापित भी हो गया. पीएसएलवी-सी41 या फिर आईआरएनएसएस-1आई का प्रक्षेपण सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पहले लॉन्च पैड से किया गया. इसरो के अधिकारियों ने कहा कि यह सब सामान्य तरीके से हुआ. सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से छोड़े जाने के 19 मिनट बाद कक्षा में अपनी जगह पर स्थापित हो गया.

इसरो के अध्यक्ष के सिवन ने मिशन को सफल बताते हुए इसके पीछे लगे वैज्ञानिकों को बधाई दी. उन्होंने कहा कि आईआरएनएसएस-1आई सफलतापूर्व अपनी कक्षा में स्थापित हो गया है. आईआरएनएसएस-1आई सात नेविगेशन सैटेलाइट में से पहले आईआरएनएसएस-1ए की जगह लेगा. करीब 2420 करोड़ की लागत से बने नेविगेशन सैटेलाइट की मदद से नक्शा बनाने में मदद मिलेगी और इस लिहाज से यह सेना के लिए भी बेहद कारगर साबित होगी. इतना ही समुद्री रास्ते और मौसम के बारे में भी यह उपग्रह सटीक जानकारी मुहैया कराएगी.

यह भी पढ़े  प्रकाशोत्सव समापन समारोह के कायरे में लाएं तेजी : जिलाधिकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here